गुरुवार, 10 मार्च 2011

शताब्दी महोत्सव - नागार्जुन की कविता और हमारा समय

वर्त्तमान वर्ष समिति और बाबा नागार्जुन दोनों का शताब्दी वर्ष है. इस अद्भूत संयोग पर आयोजित एक कार्यक्रम में वरिष्ठ साहित्यकार डा. विजय बहादुर सिंह ने "नागार्जुन की कविता और हमारा समय " विषय पर उद्बोधन दिया.

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें